बिपाशा की चूत में लंड दिया

Antarvasna, kamukta: मुझे दिल्ली जाने के लिए देर हो रही थी मैंने मां से कहा कि मां जल्दी तैयार हो जाइए तो मां कहने लगी बस बेटा थोड़ी देर में तैयार हो जाती हूं। मुझे अपनी मीटिंग के सिलसिले से दिल्ली जाना था और मां ने मुझे कहा कि मैं भी तुम्हारे साथ दिल्ली चलती हूं। दिल्ली में मेरी दीदी रहती हैं और वह वहां पर काफी वर्षों से रह रही हैं उनकी शादी को 5 वर्ष हो चुका है। दीदी ने अपनी कॉलेज की पढ़ाई दिल्ली से ही की थी। मां कुछ ही देर में तैयार हो चुकी थी और उसके बाद हम लोग अपनी कार से दिल्ली के लिए निकल पड़े। रास्ते में मां और मैं बातें कर रहे थे हम दोनों नागपुर से सुबह के वक्त निकले थे और जब हम दिल्ली पहुंचे तो मैंने मां को दीदी के घर पर छोड़ दिया था और वहां से मैं अपने काम के सिलसिले में चला गया और मुझे वहां से लौटने में शाम हो चुकी थी। जब मैं शाम को लौटा तो जीजा जी भी घर पर आ चुके थे और उस दिन जीजा जी से थोड़ी देर तक मेरी बात हुई फिर मैं आराम करने के लिए रूम में चला गया।

अगले दिन हम लोगों को सुबह ही दिल्ली से नागपुर के लिए निकलना था। दीदी ने कहा कि कुछ दिन तुम दिल्ली में रह लो लेकिन मुझे कुछ जरूरी काम था इसलिए मैं दिल्ली में नहीं रह सकता था। मां और मैं दिल्ली से वापस नागपुर लौट चुके थे जब हम लोग वापस लौटे तो हम लोग करीब 12:00 बजे के आस पास नागपुर पहुंच चुके थे। मैंने मां को घर पर छोड़ा और वहां से मैं अपने ऑफिस चला गया। मेरा बिजनेस जो कि मैं पिछले 3 वर्षों से संभाल रहा हूं और वह बड़े ही अच्छे से चल रहा है। मैं उस दिन ऑफिस में ही था मुझे ऑफिस में बहुत ज्यादा काम था और शाम के वक्त मैं वापस घर लौटा तो मुझे घर लौटने में देरी हो गई थी। मां ने ही मेरी परवरिश की है और हमेशा ही वह मुझे कहती है कि बेटा तुम शादी कर लो लेकिन फिलहाल मैं शादी करना नहीं चाहता हूं। मैं अपनी जिंदगी में बहुत ज्यादा खुश हूं और मेरी जिंदगी बड़े अच्छे से चल रही है। एक दिन मैं अपने दोस्त रोमित के साथ था रोमित मुझे काफी लंबे समय के बाद मिल रहा था। हालांकि रोमित हमारी कॉलोनी में ही रहता है लेकिन हम दोनों की मुलाकात हो नहीं पाती है। उस दिन मैं अपने घर वापस लौट रहा था तो मुझे उस दिन रोमित मिला और रोमित से मैंने उसके हालचाल पूछे।

जब उस दिन मैंने रोमित से बातें की तो मुझे बहुत अच्छा लगा और रोमित को भी बड़ा अच्छा लगा था। रोमित ने मुझे बताया कि वह कुछ दिनों के लिए अपनी फैमिली के साथ जयपुर जा रहा है। मैंने रोमित को कहा यह तो बहुत अच्छी बात है। रोमित ने मुझे बताया कि वह जल्द ही शादी करने वाला है। मैंने रोमित से जब उसकी शादी के बारे में पूछा तो उसने मुझे बताया कि उसके ऑफिस में काम करने वाली लड़की सुनीता से वह प्यार करता है और बहुत जल्द वह उससे शादी करने वाला है। मुझे यह बात पहली बार ही रोमित ने बताई थी क्योंकि उस दिन हम दोनों एक दूसरे के साथ काफी देर तक बातें करते रहे इसलिए रोमित ने मुझे अपनी शादी के बारे में भी बता दिया था। रोमित से काफी देर बात करने के बाद मैं घर लौट आया था और मां उस दिन मुझे कहने लगी कि बेटा मैं तुम्हारे लिए खाना बना देती हूं। मेरा खाना खाने का फिलहाल मन नहीं था लेकिन मैंने मां से कहा कि मां ठीक है आप खाना बना दीजिए। मां ने खाना बनाया और उसके बाद हम दोनों ने डिनर साथ में किया। मैं अपने रूम में लेटा हुआ था लेकिन मेरी आंखों से नींद गायब थी मुझे नींद नहीं आ रही थी।

मैं अपने फोन को टटोल रहा था तो उस दिन मेरी बात फेसबुक मैसेंजर पर बिपाशा के साथ हुई। बिपाशा से जब मेरी बात हुई तो मुझे बहुत अच्छा लगा बिपाशा से मैं काफी लंबे समय के बाद बातें कर रहा था लेकिन उस दिन जब हम लोगों की बातें हुई तो मुझे बड़ा ही अच्छा लगा और मैं बहुत खुश था। जिस तरीके से बिपाशा और मेरी उस दिन बातें हुई उससे मुझे बड़ा ही अच्छा लगा। बिपाशा ने मुझे बताया कि वह मुझसे कुछ दिन पहले संपर्क करना चाह रही थी लेकिन मेरा नंबर नहीं लग रहा था इसलिए वह मुझसे बात नहीं कर पाई। मैं जब कुछ दिनों बाद बिपाशा को मिला तो मुझे बिपाशा से मिलकर बड़ा ही अच्छा लगा और बिपाशा भी बहुत ज्यादा खुश थी जब वह मुझसे मिली थी। हम दोनों एक दूसरे को अक्सर मिला करते और जब भी हम दोनों एक दूसरे को मिलते तो हम दोनों को अच्छा लगता।

समय के साथ अब हम दोनों का मिलना कुछ ज्यादा ही होने लगा था इसलिए मेरे दिल में भी बिपाशा को लेकर बहुत प्यार बढ़ने लगा था और मैं उससे प्यार करने लगा था। मैं बिपाशा को काफी वर्षों से जानता हूं लेकिन मैंने कभी भी उसके बारे में ऐसा नहीं सोचा था लेकिन अब ना जाने क्यों मैं उससे प्यार करने लगा था। अंकित की अच्छाइयां मुझे बहुत ज्यादा प्रभावित करने लगी थी जिससे कि मुझे बड़ा ही अच्छा लगता और बिपाशा भी बहुत ज्यादा खुश थी जिस तरीके से हम दोनों एक दूसरे के साथ होते हैं। जब हम दोनों एक दूसरे के साथ होते तो हमें बड़ा ही अच्छा लगता और हम दोनों एक दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताया करते। हम दोनों एक दूसरे को बहुत ज्यादा प्यार करने लगे थे और यही वजह थी कि हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे। मैंने बिपाशा को अपनी मां से मिलवाया तो वह बहुत खुश थी और उन्हें बिपाशा और मेरे रिलेशन से कोई भी ऐतराज नहीं था।

मैं भी यही चाहता था कि बिपाशा और मैं शादी कर ले और जल्द ही हम दोनों ने अब शादी करने का फैसला कर लिया था। बिपाशा के परिवार को भी इससे कोई परेशानी नहीं थी और जब हम दोनों ने शादी करने का फैसला किया तो मैं बहुत ज्यादा खुश था। मैं चाहता था कि बिपाशा और मैं जल्द से जल्द शादी कर ले और कुछ समय के बाद हम दोनों ने इंगेजमेंट कर ली। इंगेजमेंट के कुछ ही महीनों के बाद हम दोनों की शादी का दिन भी तय हो गया और हम दोनों की शादी होने वाली थी। मैं बहुत ज्यादा खुश था जब मेरी और बिपाशा की शादी हुई बिपाशा मेरी पत्नी बन चुकी थी और वह घर की देखभाल बड़े अच्छे से कर रही थी। वह मां की देखभाल करती तो मुझे इस बात की बड़ी खुशी थी कि वह मां की देखभाल अच्छे से कर रही है और सब कुछ बहुत ही अच्छे से चल रहा है। मेरे और बिपाशा के बीच में बहुत ही ज्यादा प्यार है और हम दोनों एक दूसरे के बिना बिल्कुल भी नहीं रह पाते। मुझे जितना समय मिल पाता मैं उतना बिपाशा के साथ बिताने की कोशिश किया करता और बिपाशा के साथ मैं टाइम स्पेंड कर के बहुत खुश था। जिस तरीके से मैं और बिपाशा एक दूसरे के साथ होते हैं उससे हम दोनों को बहुत ही अच्छा लगता।

बिपाशा और मेरे बीच बहुत ही ज्यादा प्यार है हम दोनों एक दूसरे को बहुत ज्यादा प्यार करते हैं इसलिए जब भी मुझे बिपाशा के साथ सेक्स करना होता तो कहीं ना कहीं वह भी मेरे साथ सेक्स करने के लिए तैयार रहती। वह मेरे लिए हमेशा ही तड़पती है। एक दिन मैं और बिपाशा साथ में थे उस दिन वह मुझे कहने लगी आज मेरा सेक्स करने का मन है। उस दिन मुझे भी लग रहा था मुझे बिपाशा के साथ शारीरिक संबंध बनाना हैं। उस दिन जब बिपाशा ने मेरे लंड को पकड़ा तो मैं और बिपाशा एक दूसरे के साथ सेक्स करने के लिए मचलने लगे थे। हम दोनों की गर्मी बढ़ने लगी थी मैंने अपने होठों को बिपाशा के गुलाबी होठों पर टकराना शुरू कर दिया। जब मैं ऐसा कर रहा था तो वह मेरी बाहों में आने की कोशिश करने लगी।

मैंने बिपाशा के सामने अपने लंड को किया और उस से कहां तुम मेरे लंड को चूस लो। बिपाशा मेरे लंड को सकिंग करने लगी थी। बिपाशा को बड़ा मजा आ रहा था जिस तरीके से वह मेरे लंड को चूस रही थी उसने मेरे लंड से पानी बाहर निकाल दिया था और मेरी गर्मी को बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी। मैं और बिपाशा एक दूसरे की गर्मी को बढ़ाए जा रहे थे मैंने बिपाशा से कहा तुम अपने कपड़ों को खोल दो। बिपाशा ने अपने कपड़े उतार दिए।

बिपाशा अपने कपड़े उतार चुकी थी मैंने जब बिपाशा से कहा मुझे तुम्हारे स्तनों को चूसना है तो बिपाशा इस बात पर मुस्कुराने लगी। मैं उसके सुडौल स्तनों का रसपान करने लगा था। वह बहुत ही ज्यादा खुश हो गई थी। मै जब उसके निप्पल को चूस रहा था तो उसे मज़ा आ रहा था और मुझे भी काफी मज़ा आने लगा था जिस तरीके से मैं उसके निप्पल को चूस कर उसकी गर्मी को बढ़ाए जा रहा था अब वह बहुत ही ज्यादा गर्म होने लगी थी। वह बहुत उत्तेजित होने लगी थी मैंने देखा बिपाशा की योनि से पानी बाहर निकल रहा है मैंने उसकी चूत पर अपनी उंगली को लगाया तो मेरी उंगली पर उसका चिपचिपा पदार्थ लग गया जिसके बाद मैंने उसकी गर्म योनि को चाटना शुरू किया। मुझे उसकी गर्म योनि को चाट कर मजा आ रहा था तो मुझे मजा आने लगा था और उसे भी बहुत अच्छा लग रहा था जिस तरीके से वह मेरा साथ दे रही थी अब हम दोनों ही खुश हो चुके थे।

उसने मुझे कहा मुझे तुम्हारे मोटे लंड को अपनी चूत में लेना है वह बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो चुकी थी अब वह मेरे लंड को लेने के लिए तैयार थी। मैंने उसकी योनि पर अपने लंड को लगाया तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत के अंदर तक जा चुका था। मेरा लंड उसकी योनि में जाते ही वह जोर से चिल्लाने लगी और मुझे कहने लगी मुझे तुम ऐसे ही धक्के मारते रहो। मैं उसे बड़ी तेज गति से चोद रहा था और मुझे उसे चोदने में काफी ज्यादा मजा आ रहा था। हम दोनों एक दूसरे का साथ अच्छे से दे रहे थे जब मैं उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को कर रहा था तो वह मुझे कहती मुझे और तेजी से चोदते जाओ। मैं उसे तेजी से धक्के मार रहा था जब मेरे अंडकोषो से माल बाहर की तरफ आने को तैयार था तो मैंने उसकी चूत में अपने माल को गिरा दिया था। बिपाशा बहुत ज्यादा खुश थी मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो बिपाशा की योनि से मेरा माल टपक रहा था मुझे बड़ा ही मजा आया जिस तरीके से मैंने और बिपाशा ने एक दूसरे का साथ दिया था। बिपाशा को मेरे लंड को लेने की आदत पड चुकी थी और हम दोनों के बीच में सेक्स संबंध होते ही रहते थे। जब भी हम दोनों के बीच में सेक्स संबध होते तो हम दोनों को बहुत ही मजा आता। वह मुझे कहती मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता हम दोनों एक दूसरे के साथ बड़े खुश है।

COMMENTS



लुल्ली.. कुछ बड़ी हुई या अभी तकtelugu lo sex storiesmadhvi ki chudaihamari chudaisote hue chodabadwap sex storiesbadwap com storieslong hair sex storymaa aur beta sex storytantrik ne chodatarak mehta sex storiestamil b grade movies downloadpuchi kashi astedream came true with mamibadwap.comrandi beti ko chodadesi cfnm storyblackmail karke chodakannada halli sex storiesbadwap gamesamma mulai kathaibadwap gamesलुल्ली.. कुछ बड़ी हुई या अभी तकsex stories maidbia banda storykannada ammana tulluhindi b grade movies downloaddesi cfnm storypapa ne chodapukulo rasalumaa ki chudai bus mepukulo rasaluswami sex storiesbaji ko chodaलुल्ली.. कुछ बड़ी हुई या अभी तकdesi wife swap storiesamma nee podugutruck driver ne chodaamma nee podugusex story of assamrandiyo ka parivarbia banda storynandoi ne chodachut ek paheliभाभी ने अपनी साड़ी उठा दी और बोली- लो सहलाओchodvu kemdidi ko chudwayatarak mehta ka sexy chasmasex story of assamhindi b grade movies downloadtamil b grade movies downloadchelli tho sexpukulo rasaluswami sex storiesbadwap com storiesnanna tho sexbaap ka lunddesi cfnm storygokuldham society sex storiestailor sex storiestamil b grade movies downloadnanna tho sexbiwi ko chudwayatamil b grade movies downloadkannada ammana tullupunjabi fudi storymami ko patayarandiyo ka parivardesi cfnm storydidi ki bragokuldham society sex storiesmaa bani randiamma koduku kama kathalutamil b grade movies downloadtruck driver ne chodabdsm sex stories in hindisex story of babitarandi maa ko chodaउसको कोकरोच से बहुत ही ज़्यादा डर लगता थालुल्ली.. कुछ बड़ी हुई या अभी तकkannada halli sex storiesbia banda storytarak mehta ka sexy chasmananna tho sexhyderabad aunty kathalusote hue chodatantrik ne chodabiwi ko randi banayamadhvi ki chudaipuchi kashi asteuncle ne mom ko chodamadhvi ki chudaiamma koduku kama kathaluभाभी ने अपनी साड़ी उठा दी और बोली- लो सहलाओnanna tho sexmaa ki chudai bus megokuldham society sex storiesswami sex storiestelugu lo sex stories