माधुरी की चूत को चाटा

Antarvasna, hindi sex stories: पापा के बिजनेस को मैं संभालने लगा था जिससे कि पापा काफी खुश थे लेकिन मेरी जिंदगी पूरी तरीके से बदलने लगी थी। मेरे पास बिल्कुल भी समय नहीं होता था और मैं अपने दोस्तों से भी नहीं मिल पाता था। मैं अपनी जिंदगी में काफी बिजी रहने लगा था इसलिए मैं अब अपने दोस्तों से भी दूर होता जा रहा था। काफी समय हो गया था मैं अपने दोस्तों से मिल भी नहीं पाया था लेकिन जब एक दिन मुझे आकाश मिला तो आकाश ने मुझे कहा कि रोहन मैं आज तुमसे ही मिलने के लिए आ रहा था। आकाश मुझसे मिलने के लिए मेरे ऑफिस में ही आया हुआ था और मुझे आकाश को मिलकर बड़ा ही अच्छा लगा था। काफी लंबे अरसे के बाद हम दोनों की मुलाकात हो रही थी और मैं बड़ा खुश था जब मैं आकाश से मिला था।

आकाश ने मुझे कहा कि मैं तुम्हें मिलने के लिए इसलिए आया था कि भैया की शादी कुछ समय बाद होने वाली है और भैया की शादी में मैं तुम्हें इनवाइट करने के लिए आया हुआ था। आकाश ने मुझे अपने भैया की शादी का कार्ड दिया और मैंने आकाश को कहा कि मैं जरूर तुम्हारे भैया की शादी में आऊंगा। मैं आकाश के भैया की शादी में जाना चाहता था लेकिन किसी वजह से मैं आकाश के भैया की शादी में नहीं जा पाया था। मैं अपने काम के चलते इतना ज्यादा बिजी रहने लगा था कि मुझे बिल्कुल भी टाइम नहीं मिल पाता था और ना ही मैं किसी से मिल पाता था। मुझे काफी समय हो चुका था और मैं अपने दोस्तों से मिला भी नहीं था। एक दिन मैंने शगुन को फोन किया शगुन हमारे साथ हमारी क्लास में ही पढ़ा करती थी। शगुन मुझे कहने लगी आज तुमने मुझे कैसे फोन किया।

शगुन को मैंने कहा मैं तो तुमसे हमेशा ही बात करना चाहता हूं लेकिन मुझे बिल्कुल भी समय नहीं मिल पाता है इसलिए मैं तुमसे बात नहीं कर पाता हूं। शगुन और मैंने उस दिन काफी देर तक एक दूसरे से बात की मुझे बड़ा अच्छा लगा जब मैंने और शगुन ने बातें की। शगुन भी बड़ी खुश थी शगुन ने मुझसे कहा कि कभी तुम मुझसे भी मुलाकात कर लिया करो। मैंने शगुन को कहा कि हां जरूर मैं तुमसे कुछ दिनों में मिलूंगा और कुछ दिनों के बाद मैं शगुन को मिलना चाहता था। मैं जब शगुन को मिला तो शगुन और मैं काफी खुश थे और उस दिन हम लोगों ने साथ में काफी अच्छा समय बिताया। शगुन ने मुझे बताया कि उसकी सगाई हो चुकी है। मैंने शगुन को कहा कि तुमने बहुत जल्दी सगाई कर ली तो शगुन ने मुझे विकास के बारे में बताया और कहा कि विकास और वह एक दूसरे को काफी समय से जानते हैं और अब वह दोनों एक दूसरे को डेट कर रहे हैं। जब शगुन ने अपने घर पर विकास के बारे में बताया तो शगुन के परिवार वाले भी विकास से शगुन की शादी करवाने के लिए मान चुके थे।

अब शगुन की सगाई हो चुकी थी मैंने शगुन को कहा यह तो बड़ी अच्छी बात है कि तुम्हारी सगाई हो चुकी है। शगुन और मैंने उस दिन साथ में काफी अच्छा समय बिताया हम दोनों बड़े ही खुश थे और मैं बहुत ज्यादा खुश था जिस तरीके से मैंने शगुन के साथ में उस दिन टाइम स्पेंड किया था। शगुन और मैं एक दूसरे को बहुत ही अच्छे से समझते हैं और मैं शगुन से काफी समय बाद मिला था लेकिन उस दिन शगुन से मिलकर मुझे अच्छा लगा। मैं अपनी जिंदगी में इतना बिजी था कि मैं किसी से भी नहीं मिल पाता था लेकिन मेरी फोन पर अब मेरे दोस्तों से बात हो जाया करती थी। एक दिन शगुन का मुझे फोन आया और शगुन ने मुझे कहा कि तुम्हें मेरी शादी में जरूर आना है। शगुन ने मुझे अपनी शादी में इनवाइट किया तो मैं भी शगुन की शादी में जाना चाहता था। मैं इस बात से बड़ा खुश था कि अब शगुन की शादी होने वाली है और शगुन भी इस बात से बड़ी खुश थी। मैं जब शगुन की शादी में गया तो उस दिन मुझे माधुरी मिली माधुरी और मैं एक दूसरे को काफी पसंद तो करते हैं लेकिन हम दोनों कभी भी एक दूसरे से अपने दिल की बात कह नहीं पाए थे।

उस दिन शायद माधुरी और मैं एक दूसरे से बात कर के काफी खुश थे और मुझे भी बहुत अच्छा लगा था जब मैंने उस दिन माधुरी से बात की थी। शगुन की शादी के दौरान माधुरी और मैं काफी ज्यादा नजदीक आ गये और उस दिन के बाद हम दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे थे और एक दूसरे से जब भी हम दोनों मिलते तो हमें बहुत ही अच्छा लगता। मुझे माधुरी का साथ बहुत ही अच्छा लगता है और माधुरी को भी मेरा साथ काफी अच्छा लगता है इसी वजह से माधुरी और मेरे बीच अब काफी ज्यादा नज़दीकियां बढ़ने लगी थी। यह नज़दीकियां अब इतनी हो चुकी थी कि हम दोनों एक दूसरे से शादी करने के लिए भी तैयार थे। जब माधुरी से मैंने इस बारे में बात की तो माधुरी ने मुझे कहा कि मैं तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूं लेकिन माधुरी के परिवार वाले मुझसे माधुरी की शादी करवाने के लिए तैयार नहीं थे। माधुरी की फैमिली चाहती थी कि वह उनके दोस्त के बेटे से शादी करें इसलिए शायद वह लोग मुझसे माधुरी की शादी करवाने के लिए तैयार नहीं थे। कुछ समय बाद शगुन के कहने पर वह लोग अब मान चुके थे और हम दोनों इस बात से बड़े खुश थे।

सबकी रजामंदी से हम दोनों की सगाई हो चुकी थी और मेरे लिए यह किसी सपने के सच होने जैसा ही था क्योंकि मैंने तो कभी सोचा भी नहीं था कि मेरी शादी माधुरी से होने जा रही है। मैं और माधुरी बड़े ही खुश थे। जब माधुरी और मेरी शादी नजदीक आने वाली थी तो हम दोनों एक दिन शॉपिंग करने के लिए गए। जब हम लोग शॉपिंग करने के लिए गए तो हमें बड़ा ही अच्छा लगा और उस दिन हमने साथ में काफी अच्छा समय बिताया। शॉपिंग करने के बाद जब हम लोग घर लौटे तो हम लोगों की उस दिन फोन पर भी काफी बातें हुई। जल्द ही हम दोनों की शादी का दिन नजदीक आ चुका था और जब हम दोनों को शादी हुई तो हम दोनों बड़े ही खुश थे। हम दोनों की शादी बड़े ही धूमधाम से हुई और अब माधुरी मेरी पत्नी बन चुकी थी। मेरे लिए बड़ी खुशी की बात है कि माधुरी मेरी पत्नी बन चुकी है और माधुरी को घर में सब लोग काफी पसंद करते हैं।

मैं और माधुरी एक दूसरे से बहुत ही ज्यादा प्यार करते हैं और हम दोनों एक दूसरे के साथ काफी खुश हैं। जिस तरीके से मैं और माधुरी एक दूसरे के साथ में अपने शादीशुदा जीवन को बिता रहे हैं उससे हम दोनों बड़े ही खुश हैं और हम दोनों को बड़ा ही अच्छा लगता है जब भी मैं और माधुरी साथ में होते हैं। माधुरी और मेरा शादीशुदा जीवन बहुत ही अच्छे से चल रहा था और हम दोनों बहुत ही ज्यादा खुश हैं। हम दोनों कुछ दिनों के लिए मनाली घूमने के लिए गए जब हम लोग मनाली की वादियों में थे तो मैं और माधुरी बहुत ज्यादा रोमांटिक मूड में थे। हम दोनों चाहते थे हम दोनों उस रात सेक्स का मजा ले क्योंकि उस दिन बहुत ज्यादा ठंड थी हम दोनों एक दूसरे की बाहों में थे। मैं माधुरी के होठों को चूमने लगा था जब मैं माधुरी के होठों को चूम रहा था तो मुझे मज़ा आ रहा था और माधुरी को भी कहीं ना कहीं काफी ज्यादा मजा आने लगा था।

मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो उसकी चूत मेरे लंड को लेने के लिए तडप रही थी। माधुरी ने मेरे लंड को अपने कोमल हाथो मे लिया तो मैं रह नहीं पा रहा था। वह मेरे लंड को हिला रही थी। जब वह मेरे लंड को हिलाती तो मेरे लंड का रंग लाल हो चुका था। अब वह रह नही पा रही थी। जब वह मेरे लंड को अपने मुंह मे लेकर चूस रही थी तो मुझे मजा आ रहा था। मेरे लंड से निकलती हुई आग बढ रही थी और मै रह नहीं पा रहा था। अब मै समझ चुका था मेरे लंड को उसकी चूत के अंदर डालना होगा। मैंने माधुरी के कपडो को उतारा। उसका बदन बडा ही लाजवाब है। मैंने उसके स्तनो को चूसना शुरू किया। मै जब उसके निप्पलो को चूसता तो मुझे मजा आता और उसे भी मजा आ रहा था। मैंने माधुरी से कहा मुझे मजा आ रहा है। माधुरी को बहुत मजा आ रहा था और वह मेरे लंड को चूत मे लेने के लिए तैयार थी। मैंने उसकी चूत के अंदर अपनी जीभ को लगाया तो उसे मजा आ रहा था। जब मैं ऐसा कर रहा था तो मुझे मजा आ रहा था। मै बहुत ही ज्यादा खुश था और वह भी खुश थी। मैंने उसकी चूत को कुछ देर तक चाटा फिर मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया।

मेरा लंड माधुरी की चूत के अंदर जा चुका था। अब हम दोनो को मजा आ रहा था और मै बहुत ही खुश था। वह भी बहुत खुश थी जिस तरह मेरा लंड उसकी चूत के अंदर जा रहा था। माधुरी की चूत की चिकनाई अधिक हो चुकी थी। मैंने माधुरी से कहा मुझे मजा आ रहा है और माधुरी को भी मजा आ रहा था। माधुरी और मैं एक दूसरे के साथ बहुत ही अच्छे से सेक्स का मजा ले रहे थे। हम दोनो बहुत तडप रहे थे उसकी गरम सिसकारियां मेरी आग को बढा रहे थे। मैंने उसकी चूत पर तेजी से प्रहार करने शुरु किए। माधुरी की चूत के अंदर बाहर मेरा लंड आसानी से होता जा रहा था। हम दोनो को बहुत ही मजा आ रहा था। मैंने माधुरी से कहा मेरी चूत के अंदर और तेजी से धक्के मारो। मैं उसे तेजी से धक्के दिए जा रहा था। मैं माधुरी को तेजी से चोद रहा था। जब मेरा साथ अच्छे से दे रही थी। मेरा माल माधुरी की चूत के अंदर गिरा तो मुझे मजा आ गया था। माधुरी अब हमेशा मेरे लंड के लिए बेताब रहती है।

COMMENTS


Online porn video at mobile phone